दो से अधिक बच्चे होने पर अब नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी

21 अक्टूबर, 2019 को असम कैबिनेट ने निर्णय लिया है कि 1 जनवरी, 2021 के बाद जिन लोगों के दो या दो से अधिक बच्चे होंगे, वे सरकारी नौकरी के लिए योग्य नहीं होंगे। सितम्बर, 2017 में असम सरकार ने ‘असम की जनसँख्या तथा महिला सशक्तिकरण नीति’ पारित की थी। इस नीति के तहत जिन लोगों के दो या दो से कम बच्चे हैं वे लोग ही सरकारी नौकरी प्राप्त करने के योग्य होंगे।

Third party image reference

असम की स्थिति

असम की जनसँख्या 3.09 करोड़ है। असम से जनसँख्या घनत्व 398 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर (चीन से भी अधिक) है। असम में जनसँख्या वृद्धि की रफ़्तार अन्य राज्यों के मुकाबले काफी तेज़ रही है, असम की जनसँख्या वृद्धि का ब्यौरा निम्नलिखित है :
  • 2013 : 86 मिलियन
  • 2104 : 28 मिलियन
  • 2015 : 41 मिलियन
  • 2016 : 90 मिलियन
  • 2017 : 92 मिलियन
उपरोक्त डाटा से स्पष्ट है कि असम की जनसँख्या में प्रतिवर्ष एक मिलियन (दस लाख) की वृद्धि हुई है।

Third party image reference

असम में जनसँख्या विस्फोट का कारण

असम में जनसँख्या विस्फोट का सबसे बड़ा कारण प्रवास है। 1901 से 2011 के बीच असम की जनसँख्या में नौ गुणा वृद्धि हुई है। 1971 के युद्ध के दौराम असम की जनसँख्या में काफी वृद्धि हुई, इस समय बांग्लादेश से बड़ी संख्या में शरणार्थी असम में आये थे। असम में जनसँख्या विस्फोट का एक अन्य प्रमुख कारण साक्षरता की कमी है।


Reactions

Post a Comment

0 Comments